Home Internet How to Download large file

How to Download large file

इंटरनेट से बड़ी फाइल्स को डाउनलोड करना तब मुश्किल हो जाता है, जब इंटरनेट कनेक्शन की स्पीड कम हो या वह बार-बार टूटता हो। जब आप कोई फाइल डाउनलोड करते हैं तो अक्सर वह लगभग 98 फीसदी डाउनलोड हुई ही होती है कि इंटरनेट कनेक्शन टूट जाता है। आजकल डाउनलोड मैनेजमेंट के काम आने वाले कई अच्छे और फ्री सॉफ्टवेयर उपलब्ध हैं, जो न सिर्फ टूटे हुए डाउनलोड्स की समस्या को हल करते हैं, बल्कि डाउनलोडिंग की स्पीड भी बढ़ा देते हैं।

इंटरनेट यूजर किसी भी फाइल को डाउनलोड करने के लिए वेब ब्राउजर का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन वेब ब्राउजर्स का असली काम वेब सर्फ करना है, डाउनलोड के काम में वे उतने उपयोगी नहीं होते। इस काम के लिए कुछ फ्री प्रफेशनल डाउनलोड मैनेजर आते हैं जो डाउनलोड्स को शेडयूल करने, एक साथ बहुत सारे डाउनलोड्स करने, आपको डिस्टर्ब किए बिना बैकग्राउंड में डाउनलोड का काम पूरा करने जैसी सुविधाएं देते हैं। इन्हें आजमाकर देखें और डाउनलोड्स के टूटने की समस्या से पूरी तरह बेफ्रिक हो जाएं। आपका कंप्यूटर बंद होता हो, इंटरनेट कनेक्शन टूटता हो या बार-बार बिजली जाती हो, तो भी आपका काम आसानी से हो जाएगा।

Flashget.com- यह डाउनलोड की जाने वाली फाइल्स को कई टुकड़ों में बांटकर एक साथ कई डाउनलोड प्रोसेस शुरू कर देता है। यह टेक्निक आपको अपने इंटरनेट कनेक्शन की अधिकतम स्पीड का इस्तेमाल करने में मदद करती है।

Freedownloadmanager.org- डाउनलोड स्पीड 600 फीसदी तक बढ़ाने और किसी वेबसाइट के वेब पेजेज और फोल्डर्स की जानकारी देने में सक्षम। एक फाइल अपलोड मैनेजर भी साथ। पूरे के पूरे वेब पेजेज को डाउनलोड करने की भी सुविधा।

Orbitdownloader.com- इंटरनेट बैंडविड्थ की सीमा तय करने और कंप्यूटर में इंस्टॉल सॉफ्टवेयर्स के नए वर्जन की जानकारी देने में सक्षम।

Tonec.com- डाउनलोडिंग की गति पांच गुना तक बढ़ाने में सक्षम। डाउनलोडिंग खत्म होने पर कंप्यूटर अपने आप बंद होने की सुविधा। पूरी-की-पूरी वेबसाइट, उसका कुछ हिस्सा या कोई खास वेब पेज डाउनलोड करना संभव। वेबसाइट से किसी खास तरह की फाइल्स जैसे म्यूजिक, विडियो, पिक्चर्स आदि डाउनलोड करने की सुविधा।

Cryptload.info- डाउनलोड की गई जिप फाइल्स को अनजिप करने की सुविधा। डाउनलोडिंग पूरी होने पर कंप्यूटर को अपने आप बंद करने में सक्षम।

इन सभी सॉफ्टवेयर्स में डाउनलोड शेडयूलिंग, पॉज, री-स्टार्ट, फाइल स्पिलिटिंग, टूटे डाउनलोड्स दोबारा शुरू करना, एक साथ कई डाउनलोड्स, डाउनलोड स्पीड बढ़ाना, एचटीटीपी, एफटीपी और बिट टोरेंट सपोर्ट, ऑटोमैटिक एंटी-वायरस स्कैन, फ्लैश विडियो डाउनलोडिंग की सुविधा है। यह सभी फ्री हैं।

Source: Navbharattimes

ये पोस्ट आपको कैसा लगा, हमें कमेंट कर के बताये ! यदि आपको कंप्यूटर या टेक्नोलॉजी से समन्धित कोई Question  पूछना है तो हमें मेल करे ! हमारी Mail-ID है:-  techtipshindi@gmail.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published.