स्विस बैंकों में धन जमा कराने के मामले में 88वें से 73वें स्थान पर पहुंचा भारत, पहले नंबर पर है ये देश


स्विस बैंकों में किसी देश के नागरिक और कंपनियों द्वारा धन जमा कराने के मामले में 2017 में भारत 73 वें स्थान पर पहुंच गया. साल 2016 में भारत का स्थान इस मामले में 88वां था. इस मामले में ब्रिटेन शीर्ष पर बना हुआ है. गौरतलब है कि हाल में जारी स्विस नेशनल बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार, 2017 में स्विस बैंकों में भारतीयों की जमा राशि में 50% की वृद्धि हुई है और यह करीब 7,000 करोड़ रुपये हो गई. 2016 में इसमें 44% की गिरावट आई थी. तब भारत का स्थान 88 वां था. इस सूची में पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का स्थान भारत से एक ऊपर यानी 72 वां हो गया है. हालांकि यह उसके पिछले स्थान से एक कम है, क्योंकि उसके द्वारा जमा किए जाने वाले धन में 2017 के दौरान 21% कमी आई है.
स्विस नेशनल बैंक की रिपोर्ट में इस धन को उसके ग्राहकों के प्रति देनदारी के रुप में दिखाया गया है, इसलिए यह स्पष्ट नहीं होता कि इसमें से कितना कालाधन है.स्विट्जरलैंड के केंद्रीय बैंक द्वारा इन आधिकारिक आंकड़ों को सालाना आधार पर जारी किया जाता है. अक्सर यह आरोप लगाया जाता है कि भारतीय और अन्य देशों के लोग अपनी अवैध कमाई को स्विस बैंकों में जमा कराते हैं, जिसे कर से बचने की सुरक्षित पनाहगाह माना जाता है. हालांकि स्विट्जरलैंड ने भारत समेत कई देशों के साथ स्वत: सूचना साझा करने की संधि पर हस्ताक्षर किए हैं. इससे अब भारत को अगले साल जनवरी से स्विस बैंक में धन जमा करने वालों की जानकारी अपने आप मिलनी शुरु हो जाएगी. गौरतलब है कि धन के हिसाब से 2015 में इस सूची में भारत का स्थान 75 वां और 2014 में 61 वां था. ब्रिटेन इस सूची में पहले और अमेरिका दूसरे स्थान पर है. शीर्ष दस देशों की सूची में वेस्ट इंडीज, फ्रांस, हांगकांग, बहामास, जर्मनी, गुएर्नसे, लक्जमबर्ग और केमैन आईलैंड शामिल है. ब्रिक्स देशों की सूची में चीन का स्थान 20 वां, रूस का 23 वां, ब्राजील का 61 वां, दक्षिण अफ्रीका का 67 वां है. पड़ोसी मुल्कों में मॉरीशस का स्थान 77 वां, बांग्लादेश का 95 वां, श्रीलंका का 108 वां, नेपाल का 112 वां और अफगानिस्तान का 155 वां स्थान है. साल 1996 से 2007 के बीच भारत इस सूची में शीर्ष 50 देशों में शामिल था. उसके बाद 2008 में वह 55 वें, 2009 और 2010 में 59 वें,  2011 में 55 वें,  2012 में 71 वें और 2013 में 58 वें स्थान पर रहा.



Source link

Previous Post
Next Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *