Google claims Quantum Supremacy with Sycamore chip that out-computes modern supercomputers


गूगल ( Google ) ने एक क्वांटम कंप्यूटिंग चिप विकसित की है जो स्पीड के मामले में आसानी से मॉडर्न कंप्यूटर को भी पछाड़ देगी। गगूल ने इसे क्वांटम सुपरिमेसी का नाम दिया है। गूगल ने कहा कि दुनिया का मौजूदा सबसे तेज सुपर कंप्यूटर जिस काम को करने में 10 हजार साल लेता है उसे करने में ये नई चिप सिर्फ 200 सेकेंड लेगी। गूगल के सीईओ सुंदर पिचई ने नई चिप को बड़ी उपलब्धि बताया है। 

अगर गूगल का यह दावा सही साबित हुआ तो यह खोज कंप्यूटिंग की दुनिया को पूरी तरह बदल देगी। 

Google के ‘Quantum Supremacy’ की पहली रिपोर्ट पिछले माह फाइनेंशियल टाइम्स ने छापी थी। बुधवार को Google ने पॉपुलर साइंटिफिक जर्नल Nature में एक नया आर्टिकल पब्लिश किया। इसमें गूगल ने इस बात का खुलासा किया कि उसने एक नया 54 qubit प्रोसेसर बनाया है जिसे साइकामोर ( Sycamore ) का नाम दिया गया है। 

गूगल ने कहा है कि ये माइलस्टोन अचीव करने के लिए कंपनी ने कड़ी मेहनत की है और लगभग दो दशक के बाद ये सफलता मिली है। साइटिंस्ट इस पर 1980 से काम कर रहे थे।

आईबीएम ने गूगल के इस दावे को गलत ठहराने की कोशिश की है। IBM ने कहा है कि गूगल ने जो दावा किया है कि खास तरह के इस कैलकुलेशन करने के लिए सुपर कंप्यूटर को 10000 साल लगेंगे, ऐसा नहीं है। क्योंकि सुपर कंप्यूटर इसी टास्क को  सिर्फ 2.5 दिन में परफॉर्म कर सकते हैं।

इस खोज पर टिप्पणी करते हुए मैसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के कंप्यूटर शोधकर्ता विलियम ऑलिवर ने कहा, ” दुनिया के शीर्ष सुपर कंप्यूटर में पारंपरिक अल्गोरिद्म (कलन विधि) पर क्वांटम श्रेष्ठता का प्रदर्शन बड़ी उपलब्धि है। 
    
गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई ने बुधवार को ट्वीट किया कि टीम की इस बड़ी उपलब्धि पर गर्व महसूस कर रहा हूं। 
     
उल्लेखनीय है कि क्वांटम संगणना का कूटबद्ध सॉफ्टेवयर और कृत्रिम बुद्धिमत्ता में तत्काल इस्तेमाल होगा लेकिन इससे अधिक कुशल सौर पैनल, दवा बनाने और अधिक तेज गति से वित्तीय लेनदेन में मदद मिलेगी। 





Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *