लोगों की घर खरीदने में मदद करता है ये शख्स, दो साल में हासिल किए 21 करोड़ रुपये


क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) की कमाई प्रॉपर्टी बिकने पर मिलने वाले ब्रोकरेज से होती है.

क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) की कमाई प्रॉपर्टी बिकने पर मिलने वाले ब्रोकरेज से होती है.

PropTech स्टार्टअप Clicbrics टेकनोलॉजी के जरिए प्रॉपर्टी खरीददार को बिना किसी झंझट के वन स्टॉप शॉप की सुविधा दे रहा है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 14, 2019, 2:59 PM IST

नई दिल्ली. हर किसी के लिए घर खरीदना जीवन का एक अहम लक्ष्य ही नहीं, बल्कि सपना भी होता है. एक ऐसा आशियाना जहां आपके परिवार को सुकून और हर सुविधा मिल सके. लेकिन इसके लिए सही वैल्यू पर सही प्रॉपर्टी ढूंढना लोगों के लिए सबसे बड़ा चैलेंज रहा है. वैल्यएशन के साथ ही लोन और डॉक्यूमेंटेशन भी बड़ा सिरदर्द रहता है. इन सभी मुश्किलों को हल कर रहा है प्रॉपटेक स्टार्टअप क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) ने AI के जरिए इनका हल निकाला है. क्लिकब्रिक्स के फाउंडर और सीईओ रोहित मलिक (Rohit Malik, founder & CEO, Clicbrics) है. क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) ने सीरीज A फंडिंग के दौरान करीब 21 करोड़ रुपए जुटाए हैं. क्लिकब्रिक को उम्मीद है आगे चलकर उसके ग्राहक और भी तेजी से बढ़ेंगे. बिना किसी झंझट के वन स्टॉप शॉप की सुविधा –मौजूदा समय में रियल एस्टेट मार्केट सुस्ती के दौर से गुजर रहा है. इसी को ध्यान में रखते हुए हाउसिंग सेल्स को बढ़ाने के लिए सरकार भी तमाम कोशिशें कर रही है. स्टार्टअप्स भी इस इंडस्ट्री को नई शक्ल देने की कोशिश में जुटे हैं. PropTech स्टार्टअप क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) टेकनोलॉजी के जरिए प्रॉपर्टी खरीददार को बिना किसी झंझट के वन स्टॉप शॉप की सुविधा दे रहा है. ये भी पढ़ें: ग्रामीण युवाओं को नौकरी देने के लिए मोदी सरकार ने शुरू की नई योजना, जानिए इसके बारे में सबकुछ

क्लिकब्रिक्स के फाउंडर और सीईओ रोहित मलिक (Rohit Malik, founder & CEO, Clicbrics) है

  लोन से लेकर पेपर वर्क का सारा काम एक ही जगह पर – साल 2017 में क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) की शुरुआत हुई, कोशिश थी प्रॉपर्टी खरीदने के मशक्कत भरे काम को आसान बनाना. क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) के प्लेटफॉर्म पर ग्राहक प्रॉपर्टी के लोकेशन, साइज, बजट जैसी हर जानकारी ले सकते हैं. घर खरीदार, डेवलेपर और ब्रोकर के बीच बातचीत बेहतर से बेहतर कैसे हो इसके लिए क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) ने काफी काम किया है. प्रॉपर्टी सर्च के साथ साथ क्लिकब्रिक्स ग्राहकों को लोन दिलाने में भी मदद करता है. देश के 9 शहरों में प्रॉपर्टी दिला रहा क्लिकब्रिक-एक बार प्रॉपर्टी फाइनल हो जाए तो फिर पूरा पेपर वर्क भी क्लिकब्रिक्स ही करवाता है. कंपनी अभी प्रॉपर्टी रिसेल में डील नहीं करती है. क्लिकब्रिक अभी देश के 9 शहरों में मौजूद है. फिलहाल कंपनी का पूरा फोकस टियर 1 और टियर 2 शहरों पर है. क्या है कमाई का मॉडल – क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) की कमाई प्रॉपर्टी बिकने पर मिलने वाले ब्रोकरेज से होती है. क्लिकब्रिक्स (Clicbrics) ने सीरीज A फंडिंग के दौरान करीब 21 करोड़ रुपए जुटाए हैं. क्लिकब्रिक को उम्मीद है आगे चलकर उसके ग्राहक और भी तेजी से बढ़ेंगे. ये भी पढ़ें: अब रेस्टोरेंट में खाना होगा महंगा! इस वजह से बढ़ सकते हैं दाम (हर्ष वर्मा, CNBC आवाज़)







Source link

Previous Post
Next Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *