बचत खाते पर पाएं FD जितना ब्याज, जानिए सेविंग अकाउंट के सही इस्तेमाल का तरीका


नई दिल्ली. नए साल के पहले महीने जनवरी का आखिरी हफ्ता नज़दीक है. अगर आपके सेविंग बैंक खाते (Saving Bank Account) में भी कुछ पैसे बचे हैं और आपको इनकी जरूरत नहीं है तो इसका  फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) यानी एफडी करा सकते हैं. क्योंकि मौजूदा समय में देश के बड़े सरकारी और प्राइवेट बैंक जैसे SBI, HDFC, ICICI बैंक के बचत खाते पर 4-5 फीसदी तक ही ब्याज देते हैं. वहीं, एफडी पर 6-7 फीसदी का ब्याज मिल रहा है. लेकिन, देश में कई ऐसे छोटे बैंक हैं जो अपने बचते खातों पर FD की तरह से ही ब्याज दे रहे हैं. जी हां, रिजर्व बैंक के दिशा निर्देशों में काम करने वाले स्मॉल फाइनेंस बैंक (SFB) बचत खाते पर FD की तरह 7 फीसदी तक ब्याज दे रहे हैं. जानिए कौन से बैंक दे रहे हैं बचत खातें पर सबसे ज्यादा ब्याज (1) सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक (Suryoday Small Finance Bank) बचत खाते में 1 लाख रुपये तक जमा पर ब्याज दर 6.25 फीसदी है. 1 लाख से लेकर 10 लाख रुपये तक 7.25 फीसदी है. वहीं, 10 लाख रुपये से अधिक के जमा पर 7 फीसदी है.
(2) उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक (Ujjivan Small Finance Bank)-50 लाख से 5 करोड़ रुपये तक के जमा पर ब्याज दर 6.75 फीसदी है. 5 करोड़ रुपये से ज्यादा के जमा पर ब्याज दर 7 फीसदी है. (3) इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक (Equitas Small Finance Bank)- 10 लाख से 5 करोड़ रुपये तक के जमा पर ब्याज दर 6.50 फीसदी है. (4) AU स्मॉल फाइनेंस बैंक (AU Small Finance Bank)- 1 लाख से 10 लाख पर ब्याज दर 6.50 फीसदी है. 10 लाख रुपये से ज्यादा के जमा पर ब्याज दर 6.75 फीसदी है. जानिए अपने सेविंग अकाउंट के सही इस्तेमाल का तरीका फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स बताते हैं कि बचत और निवेश के सफर की शुरुआत अक्सर सबसे पहले सेविंग बैंक खाता खुलने के साथ होती है. एक ओर बैंक खाता खुलवाने का मुख्य मकसद पैसों को सुरक्षित जगह रखना और ज्यादा मुनाफा पाना होता है. वहीं, बैंक के साथ अगर रिश्ते बेहतर हो तो जरुरत पड़ने पर बैंक हमेशा आपकी मदद करता है. (1) पैसे से पैसा बनाने का काम आता हैं बचत खाता इन्वेस्टमेंट तौर पर आप अपने बैंक खाते का बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं. यानी एक निश्चित तारीख पर पैसे कटाकर आप म्युचूअल फंड्स,  पीपीएफ, एफडी, इंश्‍योरेंस और अन्‍य निवेश उत्‍पादों में भी इंटरनेट बैंकिंग के जरिये निवेश कर सकते हैं. शेयरों में निवेश के लिए बचत खाताधारक एक 3-इन-1 इनवेस्‍टमेंट, ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट खोल सकतें हैं. (2) बिलों के पेमेंट के लिए सेविंग बैंक खाते का इस्‍तेमाल कोई व्‍यक्ति अपने कैश मैनेजमेंट सिस्‍टम की तरह कर सकता है. इसकी मदद से बिजली-पानी के बिलों का भुगतान, टैक्‍स का पेमेंट, लोन की ईएमाआई और इंश्‍योरेंस का प्रीमियम आसानी से दिया जा सकता है. (3) बैंक के साथ बेहतर रिश्ते कराते हैं आपका फायदा बैंक के साथ रिश्‍ते बचत खाते के आकार के आधार पर बैंक आपको अन्‍य तरह के बेनिफिट की भी पेशकश करते हैं. इनमें क्रेडिट कार्ड, प्री-अप्रूव्‍ड लोन, ओवरड्राफ्ट फेसिलिटी, कई तरह की खरीद पर डिस्‍काउंट इत्‍याद‍ि शामिल हैं. (4) यूपीआई पेमेंट यूपीआई पेमेंट भुगतान करने के लिए बैंक अकाउंट को भीम, गूगलप्‍ले, या पेटीएम जैसे पेमेंट एप्‍लीकेशन के साथ लिंक किया जा सकता है.



Source link

Previous Post
Next Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *