malware spreading via WhatsApp message can reply automatically to your contacts


एक खतरनाक व्हाट्सएप मैसेज आपके फोन में ‘वॉर्म’ (वायरस) इंस्टॉल कर सकता है। यह इतना खतरनाक है कि आपको मैसेज करने वाले दोस्त भी इसका शिकार बन सकते हैं। एक बार आपके फोन में यह मैलवेयर आया तो आपको व्हाट्सएप पर मैसेज करने वाले लोगों को यह ऑटोमैटिकली रिप्लाई के रूप में चला जाएगा। एक मशहूर सिक्यॉरिटी रिसर्चर ने एक वीडियो के जरिए इसका खुलासा किया है। 

टेक सिक्यॉरिटी फर्म ESET के रिसर्चर Lukas Stefanko ने अपनी ट्विटर पोस्ट में लिखा, ‘यह मैलवेयर आपके व्हाट्सएप के जरिए फैलता है। व्हाट्सएप पर आने वाले नोटिफिकेशन को ऑटोमैटिकली रिप्लाई चला जाता है। रिप्लाई में मैलिशियस Huawei Mobile एप का लिंक भेजा जाता है। एक कॉन्टैक्ट को एक घंटे में एक बार लिंक जाता है। यह एडवेयर या सब्सक्रिप्शन स्कैम हो सकता है।’

यह भी पढ़ें: WhatsApp यूजर्स अब Telegram पर आराम से कर सकते हैं अपनी चैट ट्रांसफर, जानिए पूरा प्रोसेस

किस तरह करता है काम
रिपोर्ट के मुताबिक, यह मैलवेयर एक प्रकार का ‘एंड्रॉइड वॉर्म’ है। यह आपके फोन में एडवेयर अपलोड करता है और व्हाट्सएप पर ऑटोमैटिक मैसेज के जरिए फैलता है। यानी अगर आपको यह मैलवेयर लिंक मिला है और आप इसपर क्लिक करते हैं तो पहले यह आपके फोन में डाउनलोड होता है। फिर जो भी आपको व्हाट्सएप पर मैसेज करेगा उसे भी यही लिंक खुद चला जाएगा। इस तरह यह आगे फैलता चला जाएगा। 

इसलिए लोग करते हैं क्लिक
दरअसल जो लिंक लोगों को व्हाट्सएप पर जाता है उसे Huawei app का नाम दिया गया है। इतना ही नहीं, एप डाउनलोड करने के बदले यूजर्स को मोबाइल फोन जीतने का लालच भी दिया जाता है। लिंक पर क्लिक करने पर यह आपको एक फर्जी गूगल प्ले पेज पर ले जाता है। अगर यूजर Install पर क्लिक कर देते हैं तो मैलवेयर फोन में डाउनलोड हो जाता है। 

यह भी पढ़ें: WhatsApp Calling से उड़ रहा मोबाइल डेटा? ये ट्रिक आएगी बड़े काम

हैकर्स को होगा क्या फायदा
दरअसल यह एक फेक हुवावे एप है। इसके जरिए हैकर्स आपके डिवाइस में विज्ञापन दिखाएंगे और इससे पैसों की कमाई होगी। आम यूजर्स समझ ही नहीं पाएंगे कि उन्हें ये विज्ञापन क्यों दिख रहे हैं। 





Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *