Municipal bond listed in BSE, Ghaziabad becomes the countrys first green bond municipality


गाजियाबाद का बांड आज जारी कर दिया गया, BSE में लिस्टिंग के साथ ही गाजियाबाद देश का पहला ग्रीन बांड बन गया है.

गाजियाबाद का बांड आज जारी कर दिया गया, BSE में लिस्टिंग के साथ ही गाजियाबाद देश का पहला ग्रीन बांड बन गया है.

Ghaziabad Municipal Corporation: दिल्ली में आज गाजियाबाद नगर निगम के बीएसई में बांड लिस्टिंग कार्यक्रम का आयोजन हुआ. गाजियाबाद यूपी का दूसरा नगर निगम है, जिसका बांड जारी किया गया है. ये देश का पहला ग्रीन बांड है.

  • Last Updated:
    April 8, 2021, 5:06 PM IST

नई दिल्ली. दिल्ली में आज यानि गुरुवार को गाजियाबाद नगर निगम (Ghaziabad Municipal Corporation) के बीएसई में बांड लिस्टिंग (Bond Listing on BSE) कार्यक्रम का आयोजन किया गया. लखनऊ के बाद उत्तर प्रदेश के दूसरे नगर निगम गाजियाबाद का बांड जारी किया गया है. ये देश का पहला ग्रीन बांड (Country’s first green bond) है.

नगर निगम के बांड जारी करने से 150 करोड़ रुपये की राशि मिली, जिसका इस्तेमाल सीवर के पानी का ट्रीटमेंट करके साहिबाबाद इंडस्ट्रियल एरिया में किया जाएगा. जिससे तकरीबन 1700 कंपनियों के पानी की उपलब्धता कराई जाएगी. इस से ग्राउंड वाटर पर जो लोड है वो भी कम होगा. इसीलिए इसको ग्रीन बांड कहा भी गया है.

गाज़ियाबाद म्युनिसिपल कारपोरेशन की बांड लिस्टिंग सेरेमनी पर केंद्रीय सड़क परिवहन राज्यमंत्री और गाजियाबाद सांसद वीके सिंह ने कहा कि ये बहुत ही बड़ा मौका है. देश का पहला ग्रीन बांड गाज़ियाबाद नगर निगम का जारी किया गया. इससे सीवेज वाटर का ट्रीटमेंट करके उसकी सप्लाई साहिबाबाद इंडस्ट्रियल एरिया में की जाएगी.

उत्तरप्रदेश के शहरी विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने बताया उत्तरप्रदेश में गाज़ियाबाद दूसरा नगर निगम है, जिसका बांड लिस्ट हुआ है. ये देश का पहला ग्रीन बांड है. इसका इस्तेमाल पानी को साफ करके कंपनियों की सप्लाई में किया जाएगा. इससे भूजल पर जोर भी कम पड़ेगा.प्रदेश के शहरी विकास मंत्री ने बताया कि आगरा, बरेली समेत कई और नगर निगम इस से प्रेरित होकर प्रयास कर रहे हैं प्रदेश सरकार उनकी मदद करेगी. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री और गाजियाबाद के सांसद जनरल वीके सिंह, उत्तर प्रदेश शहरी विकास मंत्री आशुतोष टंडन, गाजियाबाद की मेयर आशा शर्मा , गाज़ियाबाद नगर निगम के कमिश्नर महेंद्र तंवर और केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के सचिव दुर्गा शंकर मिश्र शामिल हुए.







Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *